14 जून 2010

बुद्धिमत्ता भी होनी चाहिए.................

                              - डॉ० डंडा लखनवी

"शब्दसत्ता  भी  होनी चाहिए।
अर्थवत्ता  भी  होनी  चाहिए॥
काव्य है मात्र कल्पना ही नहीं-
बुद्धिमत्ता  भी  होनी चाहिए॥"

2 टिप्‍पणियां:

  1. आपकी इस पोस्ट के शीर्षक का लिंक आपने "नुक्कड़ " दे रखा है ...यह समझ नहीं पाया कि क्यों ?

    कृपया वर्ड वेरिफिकेशन हटा दें , इससे कोई फायदा नहीं बल्कि प्रतिक्रिया देने वालों को असुविधा होती है , और इतनी अच्छी रचनाएं वास्तविक वाहवाही पाने से भी वंचित हैं !
    सादर

    उत्तर देंहटाएं

आपकी मूल्यवान टिप्पणीयों का सदैव स्वागत है......